News

कार्बनिक डायरी – चरण 8: दोहराव

October 11, 2013 • Posted in: News, The Organic Diaries, Workshops

लोगों को लगता होगा कि एक पैच के आधे की विफलता हमारे छात्रों का मनोबल नीचे ला देगी। हम कुछ बहुत परेशान छात्रों की उम्मीद कर रहे थे। हालांकि, यह तथ्य सामने आया की हमारे छात्रों को उनकी प्रगति में परिस्थितियों को अनुकूल करना आता है।

Starting all over again .. but with happy face!

Starting all over again .. but with happy face!

हमने असफल पैच को एक और मौका देने का फैसला किया। बारिश रूकने के लिए हम प्रतीक्षा कर रहे थे। बारिश सितंबर के पहले सप्ताह में अच्छी तरह से जारी रहा। सितंबर के दूसरे सप्ताह के दौरान मानसून के अंत में यह घटता चला गया था और फिर से चमकदार और धूप हो रही थी। हमने सोचा – ‘बुवाई के लिए यह बिलकुल सही समय है’। बस अगले दिन हम छात्रों को समेटकर काम करने में लग गए।
मिट्टी उपजाऊ और बारिश के शानदार मौसम से नम थी और हमें यह एहसास हुआ कि मिटटी को थोडा ढीला करने के निराई के अलावा कुछ ज्यादा नहीं करना पड़ेगा। यह आधे सफाई से कम की सफाई और कुछ ढीला करने से ही काम हो गया।

Sowing some Muli seeds too since the weather's getting cooler!

Sowing some Muli seeds too since the weather’s getting cooler!

इसलिए हम इस बार बहुत अधिक उम्मीद के साथ हमारे मेथी और पालक के बीज को बो रहे थे।

The boys outdid the girls this time round- a little competition never hurt anyone eh?

The boys outdid the girls this time round- a little competition never hurt anyone eh?

हमें बस इंतज़ार करना था और यह आशा करनी थी की दुर्भाग्य और असामान्य बारिश कहीं हमारे पिच और हमारी भावनाओं पर पानी न फेर दे!

तब तक हमारे यहाँ की भिन्डी का एक पूर्ण दृश्य है – बस उन के आकार को देखें! और, वे इतनी ताजा और स्वादिष्ट हैं कि छात्र उन्हें कच्चा खा जाते हैं!

The Bhidnis looking good!

The Bhidnis looking good!

A visual of the process of the growth of the Bhindi. The students are so pleased with their garden and the effort they put in truly shows!

A visual of the process of the growth of the Bhindi. The students are so pleased with their garden and the effort they put in truly shows!

हमारे जैविक पैच में आगे क्या होता है पता लगाने के लिए फेसबुक और ट्विटर पर हमारा अनुसरण करें। सारे नए समाचार सिर्फ #कार्बनिक डायरी में!

(The E-Base program is all about putting into practice learnings at the E-base. Our modules are well complemented by hands- on and practical implementations through our projects in schools we associate with. The three main projects for this year- organic gardening, composting and energy generation through a bicycle aim to drive home the necessity of a commitment towards sustainability and environmental conservation.)

Stay connected

Sign up for our newsletter

© 2021 Conservation Wildlands Trust | Privacy Policy | Refund Policy